एक दिन में 500 श्रद्धालु ही कर पाएंगे मां चितपूर्णी के दर्शन

माता चिन्तपूर्णी का मन्दिर | जिला ऊना, हिमाचल प्रदेश सरकार | भारत
कोरोना महामारी के बीच 10 सितंबर से मां चितपूर्णी मंदिर को खोलने की तैयारी के बीच जिला प्रशासन ने भी कमर कस ली है। श्रद्धालुओं से लेकर दुकानदारों तक के लिए एसओपी जारी किए गए हैं। प्रतिदिन 500 श्रद्धालु ही मां के दर्शन कर सकेंगे। चिकित्सीय परीक्षण के बाद ही मंदिर में प्रवेश मिलेगा। मंदिर परिसर में गेट एक व दो के माध्यम से निर्धारित शरीरिक दूरी अपनाते हुए भेजा जाएगा। श्रद्धालुओं को जूतों को गाड़ी में ही उतारना होगा। यदि जरूरत पड़ती है तो पुराने बस अड्डे के पास जूते रखने के स्थान को प्रयोग में लाया जा सकता है। श्रद्धालुओं को पंक्ति में एक-दूसरे से छह फीट की दूरी बनाए रखनी होगी। हाथ और पैर साबुन से धोने होंगे। इसके लिए जगदम्बा ढाबा, मंगत राम की दुकान के समीप व पुराने बस अड्डे के पास व्यवस्था की गई है।

प्रसाद व पवित्र जल का वितरण नहीं होगा

मंदिर के अंदर श्रद्धालुओं का मूर्तियों, धार्मिक किताबों, घंटियों इत्यादि को छूना वर्जित रहेगा। ढोल-नगाड़ों युक्त गायन दलों के आने पर भी मनाही रहेगी। मंदिर में प्रसाद व पवित्र जल का वितरण भी नहीं होगा। अन्य राज्यों से आने वाले प्रत्येक श्रद्धालु के लिए न्यूनतम दो रात की बुकिग के साथ प्रदेश के बार्डर पर प्रवेश करने से 96 घंटे पूर्व प्राधिकृत लैब द्वारा जारी कोविड-19 की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। पुजारी श्रद्धालुओं को न तो प्रसाद वितरित करेंगे और न ही मौली बांधेंगे।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...