मंडी: पानी के तेज बहाव में बही कई बीघा जमीन, 3 परिवारों को हुआ लाखों का नुकसान

पानी के तेज बहाव में बही कई बीघा जमीन, 3 परिवारों को हुआ लाखों का नुकसान

मंडी जिला के विकास खंड सुंदरनगर के तहत ग्राम पंचायत चांबी के गांव मझरोठ में तीन परिवारों का लाखों का नुकसान हो गया है. हादसे में गांव मझरोठ की बीपीएल परिवार से संबंधित गीता देवी की गौशाला व शौचालय को नुकसान और अन्य दो परिवारों की कई बीघा जमीन व पेड़ मिट्टी में मिल गए हैं.

मौके पर तबाही देखकर लगता है कि यह नुकसान बादल फटने के कारण हुआ है. जिस कारण पानी के तेज बहाव के कारण पहाड़ी का मलबा बहकर लोगों के रिहायशी इलाके में आ गया. हालांकि यह तबाही जलशक्ति विभाग के तहत जैन इरीगेशन कंपनी के निर्मानाधीन सिंचाई योजना में अचानक पानी की सप्लाई देने के कारण हुआ है.इस तबाही में गीता देवी, अजय कुमार और तारा चंद धीमान की भूमि और संपत्ति का भारी नुकसान हुआ है. प्रभावितों ने प्रशासन से लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई और नुकसान का उचित मुआवजा भी देने की मांग की है.वीडियो.बता दें कि सुंदरनगर विकास खंड के तहत कंसा-चांंबी-भराड़ी गांवों के लिए जैन इरीगेशन के माध्यम से जल सिंचाई परियोजना का शिलान्यास वर्ष 2017 में कांग्रेस सरकार के कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के द्वारा किया गया था.

 इस योजना की लागत लगभग चार करोड़ से ऊपर है और वर्ष 2019 में इसका कार्य शुरू हुआ था जो अभी तक आधा अधूरा ही है.विकास खंड सुंदरनगर के तहत गांव मझरोठ निवासी गीता देवी ने कहा कि उनके घर के पास से निर्मानाधीन सिंचाई योजना में अचानक से पानी छोड़ने के बाद पहाड़ी से मलबा आने के कारण गौशाला को भारी नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि वे बीपीएल परिवार से संबंधित है और इस प्रकार से लापरवाही बरतने पर संबंधित कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए.ग्राम पंचायत चांबी के गांव मझरोठ निवासी अजय कुमार ने कहा कि उनके गांव में सिचाई लाईन बिछाई जा रही है. इसका कार्य अभी आधा अधूरा है. उन्होंने कहा कि देर रात इसकी पाईप लाईनों में पानी छोड़ने के कारण उनका लाखों का नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि मामले को लेकर विभाग को भी फोन किए,लेकिन कोई फोन नहीं उठाता है.

आदर्श युवक मंडल के प्रधान चुन्नी लाल ने कहा कि जैन इरीगेशन के द्वारा गांव से बिछाई गई पाइपलाइन में किसी शरारती तत्व के द्वारा निर्मानाधीन पाइपलाइन में पानी छोड़ दिया गया. इस कारण गांववासियों की भूमि और भवनों का नुकसान हो गया है. उन्होंने कहा कि इस हादसे में बीपीएल से संबंधित महिला का भी काफी नुकसान हुआ है. उन्होंने प्रशासन से पीड़ितों को उचित मुआवजा देने की मांग की है.ग्राम पंचायत चांबी के प्रधान दलीप कुमार ने कहा कि सिचाई योजना की पाइपलाइन में पानी छोड़ने के बाद पाइपलाइन फटने के कारण लोगों को हुए नुकसान का जायजा मौके पर आकर लिया है. उन्होंने कहा कि मामले की सूचना विभाग के संबंधित अधिकारियों को दे दी गई है. दलीप कुमार ने प्रशासन से प्रभावितों को मुआवजा देने की मांग की है.

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...