जमीन धंसने से 19 घंटे बंद रहा कालका-शिमला एनएच, सात किलोमीटर लगा जाम



प्रदेश में इन दिनों फोरलेन का काम चला हुआ है, जिसके चलते कई बार लैंडस्लाइडिंग होने के मामले भी सामने आ चुके हैं। वहीं, ताजा मामला कालका-शिमला एनएच-5 पर स्थित कंडाघाट के पास टिकरी मोड़ का है। यहां पहाड़ी धंसने से मेन सड़क पर दबाव पड़ने के कारण बीती रात्रि एक फुट गहरी व चार ईंच चौड़ी दरार पड़ जाने के कारण यह मार्ग वाहनों की आवाजाही के लिए लगभग 19 घंटे तक पूर्ण रूप से बंद रहा। मार्ग बंद होने के चलते सड़कों पर सात किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं। स्थानीय प्रशासन व एनएचएआई ने मौके पर पहुंचकर इस मार्ग को खोलने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य शुरू किया। इसके लिए तीन पोकलेन मशीनें, पांच हाइवा मशीनें व हाइड्रा मशीनों को लगाया गया। वहीं सड़क पर जो दरारें पड़ी हैं, उसे मंगलवार सुबह ही ठीक करने को लेकर कार्य शुरू कर दिया गया है, ताकि जल्द से जल्द इस मार्ग को वैकल्पिक तौर पर खोला जा सके। इसे लेकर मशीन के माध्यम से जिस जगह सड़क पर दरारें पड़ी थी, उसके आसपास की जगह की करीब तीन फीट तक खुदाई की गई, जिसके बाद इस खुदाई को भरा गया।

इस कार्य को करने में लगभग चार घंटे का समय लगा व मंगलवार दोपहर दो बजे इस मार्ग को वाहनों की आवाजाही के लिए खोला गया। पहले सोलन से शिमला की तरफ जाने वाले वाहन चलाए गए। स्थानीय प्रशासन द्वारा इस मार्ग के बंद होने के कारण सोलन से शिमला जाने वाले वाहनों को शिमला के लिए वाया साधुपुल, जुन्गा व चायल से भेजा गया। वहीं, शिमला से सोलन की तरफ आने वाले सभी छोटे वाहनों को क्यारी बगला से आते हुए लिंक रोड के माध्यम से कंडाघाट भेजा गया, जबकि बड़े वाहनों को वाया वाकनाघाट होते हुए सुबाथू भेजा जा रहा है, लेकिन सेब से लदे ट्रक इस मार्ग से न जा सके, जिस कारण यह ट्रक मेन सड़क पर ही खड़े रहे। बता दें कि इन दिनों प्रदेश में सेब सीजन रफ्तार पर है। इस कारण बीती रात से ही सेबों से लदे ट्रक मार्ग बंद होने के कारण फंसे हुए थे। मौके पर एसडीएम डा. संजीव धीमान, एसपी अभिषेक यादव, डीएसपी योगेश दत्त जोशी, एनएचएआई एरिफ कंपनी के अधिकारी घटना स्थल पर मौजूद रहे। इस दौरान एसपी सोलन बीच-बीच में ट्रैफिक का भी जायजा लेते रहे। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर सुरेश कुमार शर्मा ने बताया कि सड़क पर पड़ी दरारें ठीक कर दी गई हैं। इस कार्य को लेकर हाइड्रा, पोकलेन की बड़ी मशीनें लगई गई थीं।


मौके पर पहुंची क्विक रिएक्शन टीम

एसपी सोलन अभिषेक यादव द्वारा बंद मार्ग को खोलने के बाद किस तरह ट्रैफिक को कंट्रोल करना है, को लेकर सोलन से एक क्विक रिएक्शन टीम को मौके पर लाया गया। हर मोड़ पर पुलिस की तैनाती की गई, ताकि बंद मार्ग के दौरान जो वाहन फंस गए थे, मार्ग के खुलने के बाद उन वाहनों की आवाजाही आराम से करवाई जा सके।

सड़क के साथ पहाड़ पर भी दरारें

एसडीएम कंडाघाट डा. संजीव धीमान ने बताया कि ये दरारें कैसे पड़ी, अभी इन कारणों का पता नहीं चल पाया है, लेकिन जो ये दरारें सड़क पर पड़ी हैं, ऐसी ही दरारें सड़क के साथ लगते पहाड़ पर पड़ गई हैं। ये दरारें पहाड़ पर सौ मीटर तक पड़ गई हैं, जिसके चलते यहां खतरा और बन गया है। वहीं मोके पर फोरलेन का कार्य कर रही एरिफ कंपनी को निर्देश दिए हैं कि इस पहाड़ पर स्टेप वाइज कटिंग करें।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...