17 साल की लड़की ने जहर खाकर दे दी जान


 17 साल की लड़की ने जहर खाकर दे दी जान

कॉलेज की पढ़ाई से रोक रहे पिता से तंग आकर मझोला थाना क्षेत्र की 17 वर्षीय किशोरी ने शनिवार देर रात जहर खाकर जान दे दी। उधर,पिता ने अपनी करतूत छिपाने के लिए बेटी का शव घर के पास झाड़ी में रखकर मिट्टी का तेल डालकर जला डाला। उधर, इसकी भनक आसपास के लोगों को लगी तो उन्होंने पानी डालकर जैसे-तैसे आग बुझाई और पुलिस को सूचना दी। मामले में किशोरी के मौसा की तहरीर पर मझोला पुलिस ने आरोपी पिता के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने और साक्ष्य मिटाने की कोशिश का केस दर्ज कर लिया है। आरोपी पिता फरार है।

एसपी सिटी अमित कुमार आनंद के मुताबिक मझोला थाना क्षेत्र के चौहानों वाली मिलक निवासी कपिल कुमार एक फर्म में कर्मचारी है। उसकी बेटी संजना ने इसी साल 12वीं पास की है। वह हिन्दू कॉलेज से बीए करना चाहती थी लेकिन पिता कपिल उसकी आगे की पढ़ाई के सख्त खिलाफ था। जब भी संजना आगे की पढ़ाई के लिए जिद करती कपिल उसे बुरी तरह से पीट देता था। शनिवार सुबह स्नातक प्रवेश के लिए फार्म भर रही थी। इसी बीच वहां पहुंचे कपिल ने फिर उसे इसके लिए मना दिया और डांट लगाते हुए मोबाइल छीन लिया।

इतना ही नहीं घर में रखे तीन हजार रुपये भी लेकर घर से चला गया ताकि वह फीस न जमा कर सके। इससे आहत होकर रात करीब 12 बजे संजना ने घर में रखा सल्फास खा लिया। हालत बिगड़ने पर उसने मां को जहर खाने की जानकारी दी। उसे तुरंत पास के एक निजी चिकित्सक के यहां ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई। इसकी सूचना मां ने अन्य रिश्तेदारों को दे दी।

उधर, बेटी के इस कदम से खलबलाए कपिल ने पुलिस को सूचना दिए बिना रविवार तड़के करीब साढ़े तीन बजे घर से डेढ़ किमी दूर जंगल में ले जाकर संजना के शव को झाड़ी में रखकर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी। भनक लगने पर पहुंचे रिश्तेदारों और पड़ोसियों ने शव की आग बुझाई और पुलिस को बुला लिया। मझोला थाने के अपराध निरीक्षक अवधेश कुमार ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपी पिता कपिल कुमार के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने और साक्ष्य मिटाने का मुकदमा दर्ज किया गया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...