176 दिन बाद आज खुलेंगे मंदिरों के द्वार, सरकार के कड़े निर्देश, मंदिरों में नहीं होंगे विवाह-मुंडन और हवन



176 दिन बाद आज खुलेंगे मंदिरों के द्वार, सरकार के कड़े निर्देश

हिमाचल प्रदेश में गुरुवार को 176 दिन बाद खुल रहे मंदिरों में विवाह, मुंडन और हवन की अनुमति नहीं मिलेगी। राज्य के प्रमुख मंदिरों में आइसोलेशन वार्ड स्थापित किए जाएंगे। इनमें स्वास्थ्य विभाग की टीमें तैनात होंगी। किसी भी श्रद्धालु में कोविड-19 के लक्षण पाए जाने पर उन्हें तुरंत आइसोलेट कर दिया जाएगा। इसके अलावा जुकाम-बुखार, खांसी और अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों को भी मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। हिमाचल में 17 मार्च को मंदिरों के प्रवेश द्वार बंद कर दिए थे। लिहाजा लंबे समय के बाद खुल रहे शक्ति-सिद्धपीठों और सभी धार्मिक संस्थानों में प्रवेश के लिए कड़े नियम जारी कर दिए हैं। इसके तहत श्रद्धालुओं को एक मिनट के भीतर दर्शन करने होंगे। श्रद्धालुओं को मंदिरों के भीतर टहलने व बैठने की अनुमति नहीं होगी।


राज्य सरकार ने धार्मिक स्थलों को खोलने के लिए दिशानिर्देश तय कर दिए हैं। इसके तहत 65 वर्ष से अधिक आयु, किसी भी बीमारी से ग्रसित, गर्भवती महिलाएं और 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों को मंदिर आने की अनुमति नहीं होगी। इसके अतिरिक्त जुकाम, बुखार, खांसी लक्षण वाले व्यक्ति भी मंदिरों में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। निर्देशों में कहा गया है कि धार्मिक संस्थानों में प्रवेश करने से पहले हाथों को अच्छी तरह से धोएं व सेनेटाइजर का प्रयोग करें। श्रद्धालुओं को मास्क का उपयोग और परिसर में उचित दूरी बनाए रखने के कड़े निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा मंदिरों में स्थापित मूर्ति, घंटी, धार्मिक ग्रंथ, रेलिंग, दरवाजे स्पर्श न करने की हिदायत भी हं। घंटियों को कपड़े से कवर भी किया जा सकता है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...