मंडी जिले में 115 लोग कोरोना संक्रमित



जिले में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण ने पांव पसार लिए हैं। मार्च से अगस्त तक जिले में कोरोना संक्रमण के 450 मामले आए थे। सितंबर में 14 दिन में 450 से अधिक मामले आ चुके हैं। सक्रिय केस पहली बार 550 का आंकड़ा पार कर चुके हैं। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के 16, फर्मेंटा बॉयोटेक कंपनी टकोली के 15 कर्मियों, तिब्बती कॉलोनी के नौ व सुंदरनगर उपमंडल के कपाही में 14 लोगों समेत कोरोना संक्रमण के 115 मामले आए हैं। इनमें पांच मामले रेपिड एंटीजन टेस्ट से आए हैं।

इनमें 34 मंडी शहर के जेलरोड, खलियार, समखतेर, टारना व पैलेस कॉलोनी तथा क्षेत्रीय अस्पताल के हैं। 23 मामले जोगेंद्रनगर हलके के चौंतड़ा व 10 सदर हलके के कोटली में आए हैं। इनमें नागरिक अस्पताल कोटली व क्षेत्रीय अस्पताल मंडी के 16 कर्मचारी शामिल हैं। क्षेत्रीय अस्पताल मंडी की एक महिला कर्मी के संपर्क में आने से उसका बेटा भी कोरोना की चपेट में आ गया है। महिला बाड़ीगुमाणू की रहने वाली है। कोटली में स्वास्थ्य विभाग के जो कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए हैं वह यहां गत दिनों पॉजिटिव आए बीएमओ के प्राथमिक संपर्क हैं। फर्मेटा बॉयोटेक में अब तक 165 कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लडभड़ोल के एक चिकित्सक के कोरोना पॉजिटिव आने से अस्पताल को दो दिन के लिए सील कर दिया गया है। सोमवार को अस्पताल परिसर को सैनिटाइज किया गया।

एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है। वह बीएमओ रोहांडा के संपर्क में आए थे। इसके बाद वह होम आइसोलेट थे। तिब्बतियन चिल्ड्रन विलेज चौंतड़ा के नौ लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। लद्दाख से आए टैक्सी चालक के संपर्क में आने से ये लोग संक्रमित हुए हैं। मंडी शहर के चौहाटा बाजार में एक महिला व 10 साल का बच्चा कोरोना पॉजिटिव है। बल्ह हलके के मझयाली, भंगरोटू व दसेहड़ा में भी एक-एक मामला आया है। आइआइटी कमांद का एक प्रशिक्षु व हिमाचल ग्रामीण बैंक का कर्मी भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। संबंधित क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिए हैं।

सीएमओ मंडी डॉ. देवेंद्र शर्मा ने लोगों से आपातकालीन स्थिति को छोड़ क्षेत्रीय अस्पताल मंडी में न आने की अपील की है। एमओएच कार्यालय को सील कर दिया गया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...