घर पर इलाज के सहारे 105 साल की महिला ने दी कोरोना वायरस को मात

घर पर इलाज के सहारे 105 साल की महिला ने दी कोरोना वायरस को मात

महिला को स्वास्थ्य संबंधी और कोई दिक्कतें नहीं थी इसलिए उन्होंने अस्पताल जाने से इनकार कर दिया और अपने बेटे के घर पर पृथक-वास में रहते हुए उपचार कराने का फैसला किया.

कर्नाटक के कोप्पल जिले में 105 वर्षीय महिला ने घर पर उपचार के सहारे कोविड-19 को मात दे दी. कमलाअम्मा लिंगानागौडा हिरेगौडर कोप्पल तालुक के कतारकी गांव की निवासी हैं. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक बुजुर्ग महिला को बुखार आने के बाद पिछले सप्ताह उनकी जांच करायी गयी. जांच में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई .

महिला को स्वास्थ्य संबंधी और कोई दिक्कतें नहीं थी इसलिए उन्होंने अस्पताल जाने से इनकार कर दिया और अपने बेटे के घर पर पृथक-वास में रहते हुए उपचार कराने का फैसला किया. पेशे से डॉक्टर पोता श्रीनिवास हयाती की निगरानी में घर पर उपचार कराने के बाद कमलाअम्मा ठीक हो गयीं.

संवाददाताओं से बात करते हुए कमलाअम्मा के पोते ने कहा कि उनकी उम्र को देखते हुए घर पर उपचार करना चुनौतीपूर्ण था. हालांकि, स्वास्थ्य संबंधी अन्य दिक्कतें नहीं रहने से उनका सामान्य उपचार किया गया और उन्होंने कोविड-19 को मात दे दी. अब वह दूसरों के लिए प्रेरणा बन गयी हैं.

महिला खाना खाने से भी मना कर रही थीं. बाद में वह दलिया लेने पर राजी हुईं. सीमित दवा ही उन्हें दी गयी.कोप्पल में शनिवार शाम तक संक्रमण के कुल 8,802 मामले दर्ज किए गए थे जिनमें से अब तक 186 मरीजों की मौत हो चुकी है और 6,870 लोग ठीक हो गए हैं.

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...