यह घरेलू नुस्खे गुर्दे की पथरी को प्राकृतिक तरीके से 100 % ठीक करता है !

यह घरेलू नुस्खे गुर्दे की पथरी को प्राकृतिक तरीके से 100 % ठीक करता है !

पथरी का दर्द बहुत ही असहनीय होता है। जब भी यह दर्द होता है तो बहुत ही प्रश्न करता है। गुर्दे में पथरी एक गंभीर रोग है क्योंकि इसमें किडनी फेल होने तक का खतरा होता है। नमक एवं अन्य खनिज (मूत्र में मौजूद खनिज) एक दूसरे के संपर्क में आने पर पथरी का निर्माण करते हैं। अलग-अलग व्‍यक्तियों में गुर्दे की पथरी का आकार अलग-अलग हो सकता है। कुछ पथरी रेत के दानों के आकार की होती हैं तो कुछ आकार में इससे बड़ी होती हैं। आमतौर पर छोटी पथरी मूत्र यूरिन के साथ शरीर से बाहर निकल जाती हैं। तो आइये आज हम आपको बताते है गुर्दे की पथरी को निकालने के कुछ घरेलू नक्शे।

अंगूर का सेवन करें – अंगूर प्राकृतिक मूत्रवर्धक के रूप में उत्कृष्‍ट रूप से कार्य करता है क्योंकि इसमें पोटेशियम नमक और पानी भरपूर मात्रा में होते हैं। अंगूर में अलबूमीन और सोडियम क्लोराइड बहुत ही कम मात्रा में होता है, इस कारण अंगूर को पथरी के उपचार के लिए फायदेमंद माना जाता है।

विटामिन बी 6 का सेवन – शोधकर्ताओं ने पाया कि विटामिन बी की 100 से 150 मिलीग्राम की दैनिक खुराक गुर्दे की पथरी की चिकित्सीय उपचार में फायदेमंद हो सकती है। यह विटामिन मष्तिष्क संबंधी विकारों को भी दूर करता है। तुलसी के पत्‍तों में विटामिन बी पाया जाता है इसलिए तुलसी के पत्तों को प्रतिदिन चबाया करें।

ज्यादा से ज्यादा खाने में प्याज का इस्तेमाल करे – गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए प्याज में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं। पके हुए प्‍याज का रस पीने से गुर्दे की पथरी में राहत मिलती है। आप दो मध्यम आकर के प्याज लेकर उन्हें अच्छी तरह से छील लें। अब एक बर्तन में एक गिलास पानी डालकर दोनों प्याज को मध्यम आंच पर पका लें। जब वे अच्छी तरह से पक जाए तो उन्हें ठंडा होने दें। अब इन्‍हें ग्‍लाइंडर में डालकर अच्छे ग्‍लाइंड कर लें। अब इस रस को छान लें और इसका तीन दिन तक सेवन करें। इसके सेवन से आपको बहुत जल्‍दी फायदा मिलेगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...