---Third party advertisement---

भूस्‍खलन की जद में आया रेनशेल्टर, मलबे में दब गए तीन लोग; साथ लगते भवन को भी खतरा

भूस्‍खलन की जद में आया रेनशेल्टर, मलबे में दब गए तीन लोग; साथ लगते भवन को भी खतरा

हिमाचल/शिमला,शहर में बरसात के दौरान भूस्खलन से होने वाला नुकसान थमने का नाम नहीं ले रहा है। वीरवार को राजधानी से तीन किलोमीटर दूर ओल्ड बेरियर पर बनी वर्षा शालिका चंद सैकंड में मलबे में तबदील हो गई। हादसे के वक्‍त वर्षाशालिका में तीन लोग बैठे हुए थे। इन तीनों में से एक व्यक्ति मलबे के साथ काफी नीचे तक चला गया, जिसकी मौत हो गई।

 वर्षाशालिका का एक बड़ा हिस्सा उनके उपर गिरा और वे इसके नीचे दबते चले गए। वर्षाशालिका में बैठे तीन लोगों में से दो को हल्की चोटें आई है, जिन्हें इलाज के लिए आइजीएमसी भेजा है। वहीं मृतक व्यक्ति का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।

दूसरी तरफ पंथाघाटी में तिब्बती काॅलोनी में पेड़ गिरने के साथ रास्ता बंद हो गया है। इसे खोलने के लिए सुबह से ही वन विभाग की टीम लगी है। दोपहर बाद तक पेड़ को हटाने का काम चल रहा है। उधर, नगर निगम के संयुक्त आयुक्त अजीत भारदाज का कहना है भूस्खलन से एक व्यक्ति की मौत हुई है। निगम की बचाव टीम को मौके पर भेज दिया है।
हिमाचल की ताज़ा ख़बरों के लिए अभी लाइक करें हमारा फेसबुक पेज
loading...

Post a comment

0 Comments