---Third party advertisement---

फर्जी कोरोना निगेटिव रिपोर्ट बनाकर हिमाचल घूमने पहुंचे पति-पत्नी, धोखाधड़ी का मामला दर्ज

फर्जी कोरोना निगेटिव रिपोर्ट बनाकर हिमाचल घूमने पहुंचे पति-पत्नी, धोखाधड़ी का मामला दर्ज

पर्यटकों के लिए बेशक हिमाचल सरकार ने अपनी सीमाएं खोल दी हैं लेकिन कुछ पर्यटक इसका गलत इस्तेमाल भी कर रहे हैं। कांगड़ा में कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है। कांगड़ा की खूबसूरत वादियां निहारने के लिए दिल्ली से पर्यटक पति और पत्नी ने छह जुलाई की कोरोना की फर्जी निगेटिव रिपोर्ट बनाकर जिले में एंट्री ले ली। दोनों की पहचान 25 वर्षीय अंकित चौधरी और उनकी पत्नी निकिता निवासी दिल्ली के रूप में हुई है। एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन को जब शक हुआ तो उन्होंने कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट को क्रॉस चेक करने के लिए दिल्ली स्थित राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भेजा।

अस्पताल से कहा गया कि कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट फर्जी है। इसके बाद एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन ने तुरंत पर्यटक पति और पत्नी को पालमपुर के भवारना के गुग्गा सलोह के एक होटल में ढूंढा और परौर स्थित क्वारंटीन केंद्र में भेज दिया। दोनों पर नूरपुर पुलिस थाने में धोखाधड़ी और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। अब दोनों की कोरोना जांच कराई जाएगी, इसके बाद रिपोर्ट के आधार पर इनके ऊपर आगे की कार्रवाई की जाएगी। एसपी विमुक्त रंजन ने बताया कि यदि दंपती की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो पहले इनका इलाज कराया जाएगा, फिर इन्हें गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 

ऐसे पकड़ा दंपती:

पुलिस के अनुसार दिल्ली के पति और पत्नी ने मंगलवार को भी कांगड़ा जिले में एंट्री करने की कोशिश की थी। दोनों को नूरपुर के पास कंडवाल बैरियर पर पुलिस ने रोक लिया था। दोनों ने पुलिस को कहा कि उन्होंने टेस्ट करवाया है। पुलिस ने इस रिपोर्ट को नहीं माना और कोरोना का आरटी पीसीआर टेस्ट करवाने के लिए कहा। उसके बाद बुधवार सुबह को कंडवाल बैरियर पर दंपती फिर से पहुंच गया। दोनों ने पुलिस को आरटी पीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट दिखाई।

इसके बाद दोनों को जिले में एंट्री दे दी गई। दोनों ने पालमपुर के होटल में पांच दिन के लिए बुकिंग करवाई थी। दोनों होटल में किसी कारणवश नहीं ठहरे। दोनों भवारना के पास सलोह पैलेस में ठहरे। एसपी विमुक्त रंजन को शक हुआ। उन्होंने तुरंत अपने सूत्रों से दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में क्रॉस चेकिंग के लिए रिपोर्ट भेजी जिसके बाद दंपती के फर्जीवाड़े का पर्दाफाश हुआ। दंपती अपनी गाड़ी में आया था। हालांकि, दंपती अभी भी अड़ा हुआ है कि उनकी कोरोना की रिपोर्ट असली है।
हिमाचल की ताज़ा ख़बरों के लिए अभी लाइक करें हमारा फेसबुक पेज
loading...

Post a comment

0 Comments