हिमाचल: नौ महीने की बेटी को बचाने के लिए मां ने पब्बर नदी में लगा दी छलांग, दोनों बहे


death of mother and daughter

हिमाचल के शिमला जिले के चिड़गांव तहसील के अंतर्गत बडियारा पुल के पास गुरुवार को महिला और उसकी नौ माह की बच्ची पब्बर नदी के तेज बहाव में बह गए। घटना के बाद पीड़ित परिवार के घर में मातम छा गया है। घटना गुरुवार दोपहर बाद करीब साढे़ चार बजे की हैं, जब 20 वर्षीय मनीषा पत्नी कुशाल गांव नावी (ढाकगांव) तहसील चिड़गांव अपनी नौ माह की बेटी साईषा के साथ सड़क किनारे पैरापिट पर बैठकर घर जाने को गाड़ी का इंतजार कर रही थी।

इस दौरान मां का बेटी से ध्यान हट गया और वह फिसलकर पब्बर नदी में गिर गई और नदी के तेज बहाव में बह गई। इसके बाद मां ने भी अपनी बेटी को बचाने के लिए नदी में छलांग लग दी। लेकिन, वह भी नदी के तेज बहाव में बह गई। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक प्रत्यक्षदर्शी चालक शिव शंकर ने मां को बेटी के साथ पब्बर किनारे देखा। जिस दौरान उसका बेटी पर ध्यान नहीं था तो इस दौरान चालक ने महिला को बच्ची का ख्याल रखने की हिदायत दी।

 इसके बाद जैसे ही चालक 20 मीटर आगे बढ़ा उसने मां के चिल्लाने की आवाज सुनी। जब मुड़कर देखा तो मां-बेटी नदी के तेज बहाव में बहते हुए दिखे।महिला अपने मायके से ससुराल वापस जा रही थी। इस दौरान वह काल का ग्रास बन गई। इस घटना में मां की मौत हो गई, जिसका शव घटना स्थल से करीब 500 मीटर दूर नदी के किनारे से बरामद हुआ है।

वहीं, बच्ची का अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। इसकी तलाश में स्थानीय लोग व पुलिस दल जुटा हुआ हैं। डीएसपी रोहडू सुनील नेगी ने बताया कि इस घटना में मां का शव बरामद कर लिया गया है, जिसे पोस्टमार्टम के लिए संदासू भेजा गया है। वहीं पुलिस बच्ची की तलाश में जुट गई है। 

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...