इस कारण से अटक गई है विद्यार्थियों की रेडियो से होने वाली पढ़ाई

इस कारण से अटक गई है विद्यार्थियों की रेडियो से होने वाली पढ़ाई

कोरोना काल के चलते स्कूलों में विद्यार्थियों के प्रवेश पर रोक लगी हुई है। शिक्षा सत्र में पढ़ाई न हो पाने के कारण सरकार ने कई महत्वपूर्ण फैसले भी लिए हैं। इनमें पहली से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को रेडियो से पढ़ाई कराने का भी निर्णय लिया गया था। हालांकि अब इसके लिए विद्यार्थियों को कुछ और इंतजार करना होगा। कंटेंट तैयार नहीं होने के चलते पहली अगस्त से सरकारी स्कूलों में रेडियो से क्लास लगाने की योजना फिलहाल टल गई है। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय जल्द ही रेडियो से पढ़ाई की तारीख को तय करेगा। उधर, नवीं से जमा दो कक्षा की रेडियो से क्लास लगाने की योजना भी सिरे नहीं चढ़ सकी है।

फिलहाल दसवीं और जमा दो कक्षा के विद्यार्थियों को दूरदर्शन के माध्यम से रोजाना सुबह दस से बारह बजे तक पढ़ाया जा रहा है। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय प्रथम संस्था के साथ मिलकर रेडियो से पढ़ाई करवाने के लिए कंटेंट तैयार कर रहा है। अभी व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से करीब 70 फीसदी विद्यार्थियों तक ही पहुंच हो सकी है।

ऐसे में सभी विद्यार्थियों की पढ़ाई सुचारु तौर पर चलाए रखने के लिए निदेशालय ने रेडियो से पढ़ाई करवाने का फैसला लिया है। शिक्षा निदेशक रोहित जमवाल ने बताया कि प्रथम संस्था के प्रतिनिधियों के साथ मिलकर रेडियो से पढ़ाई करवाने के लिए कंटेंट तैयार किया जा रहा है। प्रदेश के सभी विद्यार्थियों की पढ़ाई जारी रखने के लिए रेडियो को चुना है।

कई विद्यार्थी मोबाइल फोन नहीं होने के चलते व्हाट्सएप ग्रुपों से नहीं जुड़ पा रहे हैं। ऐसे में बच्चों तक अब रेडियो के माध्यम से पहुंचा जाएगा। उन्होंने बताया कि रेडियो से पढ़ाई करवाने के लिए शिक्षण सामग्री को तैयार करने का काम शुरू हो गया है। जल्द ही ऑल इंडिया रेडियो के स्थानीय चैनल के माध्यम से पढ़ाई करवाना शुरू किया जाएगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...