---Third party advertisement---

मरीजों की बढ़ती संख्या को लेकर स्वास्थ्य विभाग लिया बड़ा फैसला ...

मरीजों की बढ़ती संख्या को लेकर स्वास्थ्य विभाग लिया बड़ा फैसला ...

हिमाचल/शिमला – हिमाचल प्रदेश में कोरोनाकाल के समय में स्वास्थ्य विभाग से कोई भी अधिकारी, कर्मचारी रिटायर नहीं होगा। प्रदेश सरकार ने यह अहम फैसला लिया है। बताया जा रहा है कि राज्य में जब तक कोरोना के मामले कम नहीं होते हैं और स्थिति सामान्य नहीं हो जाती है, 

तब तक राज्य के सभी अस्पतालों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रो में स्वास्थ्य कर्मी रिटायर नहीं होंगे। जानकारी के अनुसार राज्य मेें स्वास्थ्य विभाग में सेवाएं देने वाले दर्जनों कर्मचारी, डाक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ ऐसा है, जो फरवरी माह से अपनी सेवानिवृत्ति का इंतजार कर रहा है। लेकिन कोरोनाकाल के इस संकट में सरकार अभी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की सेवाएं जारी रखना चाहती है। 

यही वजह है कि प्रदेश सरकार ने स्वास्थ्य विभाग में किसी भी अधिकारी को अभी रिटायर न करने के आदेश जिला स्वास्थ्य विभाग को भी जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही सरकार ने फैसला लिया है कि प्रदेश में नर्सिंग के जितने भी पद खाली हैं, उन सभी पदों को जल्द भरने को लेकर भी प्रयास किए जाएंगे। गौर हो कि प्रदेश में इस वक्त 300 से 400 डाक्टरों के पद खाली चले हुए हैं। 

वहीं पैरामेडिकल के भी हजारों पद खाली चले हुए हैं। यही वजह है कि सरकार अब स्वास्थ्य विभाग मेें खाली पदों को भरने के लिए तैयारियों में जुट चुकी है। बता दें कि प्रदेश में कोविड के मामलों की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है। इसने स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ा दी हैं। 

यही वजह है कि प्रदेश स्वास्थ्य विभाग अब सुविधाओं को सुदृढ़ करने में जुट चुका है। अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान का कहना है कि जब तक प्रदेश में कोरोना के मामले बिल्कुल नहीं थम जाते हैं, तब तक विभाग में किसी भी स्टाफ की ट्रासंफर नहीं होगी।
हिमाचल की ताज़ा ख़बरों के लिए अभी लाइक करें हमारा फेसबुक पेज
loading...

Post a comment

0 Comments