हिमाचल में कोरोना के चार और मरीज

बद्दी से लौटे कोरोना पीडि़त ट्रक ड्राइवर की दो साल की बच्ची में भी संक्रमण; हमीरपुर के बिझड़ी, कांगड़ा के शाहपुर और ऊना के अंब में दिल्ली से लौटे लोगों में भी मिला जानलेवा वायरस, प्रदेश में 50 तक पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा

शिमला-हिमाचल में शुक्रवार को एक के बाद एक, चार मामले आने के बाद प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का कुल आंकड़ा 50 तक पहुंच गया है। प्रदेश में ये चार मामले चंबा, कांगड़ा, हमीरपुर और ऊना में सामने आए हैं। राज्य के चार जिलों में चार नए मामले आने से राज्य सरकार की कर्फ्यू पर बढ़ाई गई ढील पर सवाल उठने लगे हैं। इन चारों मामलों में दिल दहला देने वाला कोरोना का मामला चंबा के तीसा उपमंडल के सियूल गांव में सामने आया है। इस गांव का बद्दी से लौटे कोरोना पीडि़त ट्रक ड्राइवर की दो साल की बेटी भी संक्रमित हो गई है। 

ट्रक ड्राइवर ने होम क्वारंटाइन के नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाईं। इसके चलते दो साल की मासूम को पिता की लापरवाही की सजा भुगतनी पड़ी है। यही नहीं, इस ड्राइवर ने अपने साथियों के साथ शराब पीने के अलावा परिवार में मेलजोल बनाए रखा था। नतीजतन उससे महज 23 महीने की मासूम बच्ची भी कोरोना संक्रमित हो गई। इसके अलावा दिल्ली से हमीरपुर के बिझड़ी लौटा एक व्यक्ति भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। 42 वर्षीय यह व्यक्ति 29 अप्रैल को गाड़ी में दिल्ली से लौटा था। 

 गौर करने वाली बात यह है कि उक्त संक्रमित व्यक्ति में किसी भी प्रकार के कोई लक्षण नहीं पाए गए थे। न तो उसे सर्दी, खांसी, जुकाम या बुखार था और न ही कोई अन्य परेशानी। केवल हॉट स्पॉट एरिया से आने के कारण उस व्यक्ति के छह मई को रैंडमली सैंपल लिए गए थे। इसके पॉजिटिव पाए जाने से इलाके में दहशत फैल गई है। कोरोना संक्रमित इस व्यक्ति को उपचार के लिए भोटा स्थित राधास्वामी चैरिटेबल हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया है। इसने भी क्वारंटाइन के निर्देशों को ठेंगा दिखाते हुए घर में नाई बुलाकर बाल कटवाए और परिवार के साथ रहा था। उसके संपर्क में आने वाले करीब 50 लोगों के भी सैंपल लिए जा रहे हैं। 

बात यदि कांगड़ा के शाहपुर के कोरोना पीडि़त की करें तो बीएमओ शाहपुर मोहन चौधरी ने बताया कि गांव झीरवल्ला का 25 वर्षीय युवक 28 तारीख को दिल्ली से अपने घर झीरवल्ला आया था। पांच मई को उसने फोन द्वारा अपने बीमार होने की जानकारी दी। उक्त युवक को धर्मशाला ले जाया गया, जहां शुक्रवार को उसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई। इस प्रकार कोरोना पीडि़तों की संख्या 49 हो गई है। उधर, शुक्रवार देर शाम ऊना जिला के अंब के नजदीक पंजोआ लड़ोली की दिल्ली से लौटी महिला भी कोरोना संक्रमित पाई गई। इस महिला को मैहतपुर के एक निजी होटल में क्वारंटाइन में रखा गया था। महिला छह मई को दिल्ली से आदर्श नगर से परिवार सहित आई थी। उसे उपचार के लिए भोटा अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। गौरतलब है कि शुक्रवार को प्रदेश भर में 535 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। 

खबर लिखे जाने तक इनमें से 494 सैंपल की जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई थी, जबकि चार की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। शेष 38 लोगों की जांच रिपोर्ट आनी बाकी थी। राज्य में अब तक 9522 लोगों की जांच की जा चुकी है। इनमें से 9434 लोगों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई जा चुकी है। 50 व्यक्तियों में इस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से नौ लोग अस्पतालों में उपचाराधीन हैं। विश्वव्यापी कोविड-19 महामारी संक्रमण नियंत्रण के लिए प्रदेश स्वास्थ्य विभाग स्थिति पर पूर्ण नजर बनाए हुए है। इसी संदर्भ में स्वास्थ्य प्रबंधन एवं कार्यों की समीक्षा के लिए प्रदेश के समस्त मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के साथ विशेष सचिव स्वास्थ्य एवं मिशन निदेशक एनएचएम डा. निपुण जिंदल ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम समीक्षा बैठक की। इसमें विभाग द्वारा वर्तमान परिवेश में संक्रमण की रोकथाम के लिए निवारक एवं उपचारात्मक उपायों के प्रबंधन/ संचालन के लिए दीर्घकालिक कार्य योजना पर मंथन किया। अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) आरडी धीमान ने बताया की उक्त समीक्षा बैठक में सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को अपने जिलों में डेडिकेटिड कोविड-19 केयर सेंटर, अस्पताल व संस्थान व्यवस्थित करने की हिदायत दी गई। 

उन्हें इस कार्य के लिए तैनात सभी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित करने के लिए भी कहा गया, ताकि संक्रमण की संभावनाओं को रोका जा सके और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं की सुरक्षा भी सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए जहां प्रदेश सरकार विभिन्न माध्यमों का प्रयोग कर स्थिति को नियंत्रित कर रही है, वहीं हमारे कोरोना वारियर्स जिनमें चिकित्सक, सभी स्वास्थ्य सेवा प्रदाता, पैरा मेडिकल स्टाफ, पुलिस प्रशासन, सफाई कर्मी और प्रेस-मीडिया कर्तव्यनिष्ठा से सराहनीय सेवाएं दे रहे हैं। 

देशव्यापी लॉकडाऊन में सभी नागरिकों को घर पर बने रहने के लिए कहा जा रहा और उनकी सुरक्षा के लिए कोरोना वारियर्स दिन-रात तन्मयता से सेवाएं दे रहे हैं, जिसके लिए प्रदेश सरकार को अपने इन योद्धाओं पर गर्व है। आरडी धीमान ने बताया कि कोविड-19 महामारी को हलके में नहीं लेना होगा और स्थिति को यथावत नियंत्रण में बनाए रखने के लिए प्रत्येक नागरिक को और अधिक सचेत और जागरूक रहना होगा। अभी हमारा देश कोरोनामुक्त नहीं हुआ है। अन्य राज्यों से प्रतिदिन कोरोना के नए मामले देखने में आ रहे हैं। जब तक पूरा देश और समूचा समाज इस बीमारी से निजात नहीं पा लेता, मानवीय चुनौतियां भविष्य में सहजता से निपटानी होंगी। सभी नागरिक महामारी के इस दौर में आपसी सौहार्द और प्रेमभाव से रहें। अन्य राज्यों से आने वाले लोगों को चौदह दिन होम क्वारंटाइन में रहने के लिए प्रेरित करें और संक्रमण नियंत्रण में सहयोग दें।

कोरोना अब तक

निगरानी में 18488

क्वारंटाइन पीरियड 7110

कुल सैंपल 9522

कुल नेगेटिव 9434

कुल पॉजिटिव 50

ठीक हुए 35

पॉजिटिव (माइग्रेटिड) 04

उपचाराधीन 09

कोरोना से मौत 02

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...