हिमाचल की बेटी को सलाम : ड्यूटी के लिए टाल दी शादी

हिमाचल की बेटी को सलाम : ड्यूटी के लिए टाल दी शादी

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में भय का वातावरण बना रखा है। महामारी से लड़ने के लिए देश के स्वास्थ्य, पुलिस, प्रशासन और मीडिया के कोरोना वॉरियर्स अपनी जान जोखिम में डालकर सर्वोच्च योगदान दे रहे हैं। मंडी जिले की नर्स पूजा ने भी कुछ ऐसी ही मिसाल पेश की है।

मंडी जिला के उपमंडल सुंदरनगर की रहने वाली एक महिला स्टाफ नर्स की 14 और 15 अप्रैल को शादी थी, लेकिन अब वह टल गई है। फर्ज व सेवाओं को प्राथमिकता देते गए कोरोना वारियर्स ने शादी बाद में और फर्ज को पहले रखते हुए इस युद्ध में अपनी सहभागिता दर्ज करवाई है।

हिमाचल की बेटी को सलाम : ड्यूटी के लिए टाल दी शादी

सुंदरनगर की डैहर निवासी पूजा शर्मा पुत्री प्रकाश चंद शर्मा चंबा मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल में स्टाफ नर्स है। 14 से 15 अप्रैल तक उसकी शादी होनी तय हुई थी। आप पढ़ रहे हैं हिमाचली ख़बर। लॉकडाउन व कर्फ्यू के बीच अब शादी टल गई है और पूजा चंबा मेडिकल कॉलेज में कोरोना संदिग्धों के उपचार के लिए लगी है। बेटी के इस एहम फैसले का उसके परिवारजनों समेत होने वाले जीवनसाथी व ससुराल वालों ने सहमति दी।

परिवार व पड़ोसियों व गांव के लोगों को बेटी पर नाज है। 30 जनवरी 2020 को ही पूजा की सगाई मंडी के लोअर नेला निवासी क्षितिज शर्मा के साथ हुई थी। 14 और 15 अप्रैल 2020 को शादी होनी तय हुई थी। घर को दुल्हन की तरह सजाया गया और आवश्यक वस्तुओं की भी खरीददारी पूर्ण की गई थी। पूजा के परिवार में पिता प्रकाश चंद शर्मा, माता किरण शर्मा, बड़ी बहन निशा शर्मा, छोटा भाई विशाल शर्मा, दादी कमला देवी, चाचा नागेंद्र शर्मा और चाची सोनिया शर्मा समेत ससुराल पक्ष के समस्त सदस्य बीमारी की खात्मे तक पूजा को लड़ाई जारी रखने का साहस दे रहे हैं।

हिमाचल की बेटी को सलाम : ड्यूटी के लिए टाल दी शादी

पूजा शर्मा ने बताया कि इस वैश्विक महामारी के महायुद्ध में जब भी वह अपने मायके पक्ष व होने वाले ससुराल पक्ष के सदस्यों से बातचीत करती है तो उनके साथ के साथ उसे कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एक नई ऊर्जा और हौंसला मिलता है। पूजा के पिता प्रकाश चंद शर्मा का कहना है कि बेटी देश सेवा कर रही है और उन्हें बेटी पर नाज है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...