बैसाखी पर मिनी हरिद्वार में नहाने पर होगी कड़ी कार्रवाई

बैसाखी पर मिनी हरिद्वार में नहाने पर होगी कड़ी कार्रवाई

जवाली का जिला स्तरीय बैसाखी मेला इस बार कोरोना महामारी की भेंट चढ गया हे यहां पर हर वर्ष 13 और 14 अप्रैल को एक बहुत बड़ा मेला लगता था जिसमें हजारों लोग विभिन्न क्षेत्रों से आते थे काफी चहलकदमी होती थी लेकिन इस बार करोना महामारी के चलते लगाए गए हिमाचलसे.कॉम लोग डॉन के कारण मेला स्थागित होने से मिनी हरिद्वार में वीरानी छाई हुई है कोई भी मिनी हरिद्वार में नहीं दिखा। मान्यता है कि जवाली के मिनी हरिद्वार जवाली को पांडवों ने अपने अज्ञातवास के दौरान निर्मित किया था। पांडवों ने स्वर्ग जाने के लिए पौढ़ी का निर्माण करना शुरू किया था लेकिन वह केवल अढाई पोडियों का ही निमार्ण कर पाए जो कि आज भी यहां पर विद्यमान है आज भी इस स्थल की तुलना हरिद्वार से की जाती है।

जो लोग हरिद्वार में जाकर स्नान नहीं कर सकते वे मिनी हरिद्वार के पावन सरोवर में स्नान करके पुण्य कमाते हैं इस बारे जब जवाली के अध्यन सलीम आजम से बात की गई तो उन्होंने कहा कि क्रोना महामारी के चलते सरकार ने सभी मेलो वाद सांस्कृतिक कार्यक्रमों को स्थगित कर दिया है इसी के तहत जवाली में 13 व 14 अप्रैल को मनाया जाने वाला जिला स्तरीय बैसाखी मेला इस बार स्थगित कर दिया गया है उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति मिनी हरिद्वार में नहाने के लिए ना जाए उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति मिनी हरिद्वार देहर खड्ड में मैं नहाता हुआ या घूमता हुआ पकड़ा गया तो उसके खिलाफ केस दर्ज करके कड़ी कार्रवाई की जाए।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...