हिमाचल में पहली बार ईस्टर पर बंद रहे चर्च, लोगों ने जूम एप से की लाइव प्रार्थना

हिमाचल में पहली बार ईस्टर पर बंद रहे चर्च, लोगों ने जूम एप से की लाइव प्रार्थना

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हुए लॉकडाऊन के कारण पहली बार ईस्टर पर चर्च बंद रहे, ऐसे में ईसाई धर्म के अनुयायी व लोग चर्च पहुंचकर प्रार्थना नहीं कर पाए। राजधानी शिमला के रिज पर स्थित ऐतिहासिक चर्च भी बंद रहा। क्रिसमस के बाद ईस्टर ईसाई समाज का सबसे बड़ा पर्व माना जाता है लेकिन इस बार ईस्टर पर लोग चर्च पहुंचकर प्रार्थना नहीं कर पाए। पादरियों ने भी पहले ही लोगों से अपील की थी कि वे घरों पर ही रहकर प्रार्थना करें और सरकार के इस लॉकडाऊन को सफल बनाएं।

रिज स्थित ऐतिहासिक चर्च के पादरी ने बताया कि  ईसाई धर्म के लोगों के लिए आज का दिन बहुत बड़ा दिन है। इस दिन को बहुत खुशी से मनाया जाता है और इस दिन प्रार्थना की जाती है लेकिन कोरोना वायरस के चलते लॉकडाऊन के बाद चर्च बंद किए। उन्होंने बताया कि जूम एप से एकत्रित होकर प्रार्थना कर रहे हैं। इस एप से लोग अपने घरों में ही बैठकर प्रार्थना कर रहे हैं।

रविवार को भी ईस्टर पर विशेष प्रार्थना का आयोजन किया गया। इस दौरान भी जूम एप से लोगों को एकत्रित किया गया और चर्च से ही लाईव प्रार्थना की गई, जिसमें बहुत से ईसाई धर्म के लोगों ने भाग लिया। इस दौरान 150 के करीब लोग लाइव एप से जुड़े और सभी ने मिलकर प्रार्थना की व भजन गए।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...