कृषि विभाग के जेई इस वजह से हुए सस्पेंड

कृषि विभाग के जेई इस वजह से हुए सस्पेंड

कृषि उपनिदेशक सिरमौर से उनके कार्यालय में मारपीट करने के आरोपी उनके ही विभाग के जेई दीपक चंदेल को सस्पेंड कर दिया गया है। जेई को सस्पेंड करने के बाद उसे हेडक्वॉर्टर शिमला लगाया गया है। कृषि विभाग के निदेशक आरके कौंडल ने जेई दीपक चंदेल के खिलाफ डिप्टी डायरेक्टर की शिकायत मिलने पर यह कार्रवाई अमल में लाई। बता दें कि 15 अप्रैल की शाम को कृषि विभाग जिला सिरमौर के उपनिदेशक डॉ. राजेश कौशिक लॉकडाउन में किसानों के पास बनाने के कार्य में लगे हुए थे। इसी दौरान उन पर 4 लोगों ने हमला किया। उन्हें लहूलुहान कर दिया। डेढ़ घंटे तक उनके साथ कार्यालय में मारपीट की गई।

आरोपियों ने जहां सरकारी कार्य में बाधा डाली, वहीं कार्यालय का सामान भी तहस-नहस कर दिया। उन पर हमला करने वाले चार आरोपियों में सेवानिवृत्त ड्राफ्टमैन अमर सिंह नेगी, शिक्षा विभाग के शारीरिक शिक्षक शिशुपाल, कृषि विभाग के जेई दीपक चंदेल व वन विभाग के सुपरिटेंडेंट एवं अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला सिरमौर के अध्यक्ष राजेंद्र बब्बी  शामिल थे। वारदात के अगले दिन 16 अप्रैल को चारों आरोपियों को पुलिस थाने से ही डिप्टी डायरेक्टर के साथ मारपीट करने के बाद उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था। हालांकि अभी दो अन्य विभागों में कार्यरत आरोपियों के खिलाफ अभी आलाधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की है। आप पढ़ रहे हैं हिमाचली ख़बर। उधर, कृषि विभाग के निदेशक आरके कौंडल ने बताया कि डिप्टी डायरेक्टर की शिकायत मिलने के बाद जेई दीपक चंदेल को सस्पेंड कर दिया गया है और उसे हेडक्वार्टर शिमला में लगाया गया है। उन्होंने कहा कि एक सीनियर अधिकारी के साथ ऑफिस हावर में मारपीट निंदनीय है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...