यहां नाका लगाकर बाहरी लोगों की एंट्री पर लगाई रोक, युवा बदल-बदलकर कर रहे ड्यूटी

यहां नाका लगाकर बाहरी लोगों की एंट्री पर लगाई रोक, युवा बदल-बदलकर कर रहे ड्यूटी

कोरोना महामारी के चलते जिला के गांव झोड़ोवाल के ग्रामीणों ने अपने स्तर पर गांव में नाका लगाया हुआ है। गांव में पूरी तरह से दूसरे स्थानों से आने वाले लोगों की एंट्री पर रोक लगा दी गई है। ग्रामीण युवा यहां दिन-रात नाके पर लगे हुए हैं। सभी युवा बारी-बारी इसे अपनी ड्यूटी समझ रहे हैं। जब ग्रामीण सुबह के समय ढील के दौरान कोई सामान लेने बाजार जाते हैं तो वापस आने पर उन्हें पहले सैनिटाइज करवाया जाता है और उसके बाद ही गांव में आने की अनुमति प्रदान की जाती है। युवाओं द्वारा यहां ड्रोन के माध्यम से भी पूरी नजर रखी जा रही है कि कोई बाहरी व्यक्ति गांव में प्रवेश न कर पाए। यूथ क्लब के पदाधिकारियों राजेन्द्र कुमार, अजय कुमार, राम कुमार, अश्विनी कुमार, अमनदीप, विकास कुमार, पंकज चौधरी व अन्य ने बताया कि गांव में पिछले 5 दिनों से यह नाका लगाया हुआ है।

प्रतिदिन युवा बदल-बदलकर अपनी ड्यूटी समझकर इस नाके पर बैठते हैं और किसी को भी प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा। जब कोई बाहरी व्यक्ति आता है तो उसे नाके के पीछे से ही वापस भेज दिया जाता है। उन्होंने कहा कि पहले झोड़ोवाल गांव के रास्ते से पहले पंजाब व अन्य राज्यों के ट्रक निकलते थे। इससे यहां कोरोना जैसी महामारी का भय सता रहा था। इसी के चलते अब इस रास्ते को बंद कर दिया गया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...