दादा की मौत पर बनाया झूठा कफ्र्यू पास, प्रेमिका भगाने पहुंचे जंजैहली

दादा की मौत पर बनाया झूठा कफ्र्यू पास, प्रेमिका भगाने पहुंचे जंजैहली

सराज विधानसभा क्षेत्र में सोशल डिस्टैंसिंग के कारण जारी लॉकडाऊन में कड़ी निगरानी को भेदना 2 शातिरों को महंगा पड़ गया। एस.डी.एम. मनाली से 2 लोगों जिनमें एक सरकाघाट तथा दूसरे कुल्लू निवासी ने दादा की मौत का बहाना बनाकर पास ले लिया जिसकी छानबीन करने पर पाया गया कि शातिर जंजैहली से किसी लड़की को अगवा करने की फिराक में थे। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार करने के बाद मामला दर्ज कर लिया है और दोनों को फिलहाल कड़ी हिदायत के साथ मुचलके पर छोड़ दिया है। एसडीएम थुनाग सुरेंद्र मोहन ने बताया कि 2 व्यक्तियों के खिलाफ  आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 51 व 52 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इनमें से एक सरकाघाट तथा दूसरा कुल्लू का रहने वाला है। ये खबर हिमाचलसे.कॉम से ये दोनों व्यक्ति एसडीएम मनाली से घर में दादा की मृत्यु होने पर 12 अप्रैल को कफ्र्यू पास लेकर सरकाघाट के लिए निकले थे लेकिन पंडोह केलोधार रास्ते से जंजैहली निकल पड़े और जैसे ही बगस्याड़ पुलिस नाके पर पहुंचे तो पुलिस ने उनकी छानबीन की, जिसमें पाया गया कि इनका पास मनाली से सरकाघाट का था और पुलिस ने उपमंडल थुनाग में आने का कारण पूछते हुए नाके पर रोके रखा।

 2 घंटों के भीतर जंजैहली से वापस आने की आज्ञा मांगते रहे

 इन्होंने बताया कि दादा की मृत्यु होने पर पिता जी ने कहा है कि अपनी बहन जिसकी शादी जंजैहली में हुई है, को भी साथ लेकर आना। दादा की मृत्यु का बहाना बनाकर उक्त व्यक्ति ने मनगढ़ंत कहानी रचते हुए थुनाग से जंजैहली जाने की आज्ञा मांगी जिसे शुरू में एसडीएम ने सिरे से खारिज किया लेकिन उसके बावजूद ये लोग बार-बार कार्यालय में कॉल करते रहे तथा उनसे 2 घंटों के भीतर जंजैहली से वापस आने की आज्ञा मांगते रहे। इन्होंने पहचान के साक्ष्य हेतु आधार कार्ड इत्यादि कुछ भी प्रस्तुत नहीं किया तथा अपना दूसरा फोन नम्बर देकर इसे अपने पिता का नम्बर बताया जिससे इन पर संदेह हुआ। पुलिस नाके पर जंजैहली से वापसी पर छानबीन के दौरान यह पाया गया कि इनके साथ कोई बहन नहीं थी।

पुलिस को चकमा देकर शातिरों ने गाड़ी को खूब दौड़ाया

उसके बाद दोबारा से इन दोनों व्यक्तियों पर विभिन्न स्तर पर निगरानी रखी गई जिससे पाया गया कि इन लोगों का इरादा जंजैहली क्षेत्र से लड़की को अगवा करने का था। इस घटना को अंजाम देने के लिए इन्होंने बहुत ही चतुराई से योजना बनाई थी परंतु प्रशासन की सतर्कता तथा पुलिस की पैट्रोङ्क्षलग से उक्त दोनों शातिर अपने ही बुने हुए जाल में फंस गए। हालांकि पुलिस को चकमा देकर शातिरों ने गाड़ी को खूब दौड़ाया और लिंक रोड की आड़ में सीधे पुलिस थाना पहुंच गए जिससे दोनों आरोपी पुलिस ने धर लिए। पुलिस अधीक्षक मंडी गुरदेव चंद शर्मा ने मामले की पुष्टि की है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...