---Third party advertisement---

लॉकडाउन: प्री प्राइमरी स्कूलों के 47 हजार विद्यार्थियों की भी व्हाट्सऐप से होगी पढ़ाई

लॉकडाउन: प्री प्राइमरी स्कूलों के 47 हजार विद्यार्थियों की भी व्हाट्सऐप से होगी पढ़ाई

हिमाचल में प्री प्राइमरी स्कूलों के 47 हजार विद्यार्थियों की भी अब व्हाट्सऐप से पढ़ाई करवाई जाएगी। नर्सरी और केजी के बच्चों को भी लॉकडाउन के दौरान व्यस्त रखने को शिक्षा विभाग ने योजना बनाकर काम शुरू कर दिया है। प्रदेश के 3700 सरकारी स्कूलों में अभी प्री प्राइमरी की कक्षाएं चल रही हैं। समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय के माध्यम से प्री प्राइमरी कक्षाओं की पढ़ाई करवाई जा रही है। निजी स्कूलों का मुकाबला करने के लिए बीते दो साल के दौरान प्रदेश के सरकारी स्कूलों में नर्सरी और केजी की कक्षाएं शुरू की गई हैं।
इन कक्षाओं में पढ़ने वाले बच्चों को अक्षर ज्ञान और उठने-बैठने सहित खाने-पीने के तरीके समझाए जाते हैं। कोरोना वायरस से बचाव के लिए इन दिनों सभी स्कूल बंद हैं। आप पढ़ रहे हैं हिमाचली ख़बर। ऐसे में अन्य कक्षाओं की तर्ज पर अब प्री प्राइमरी कक्षाओं के बच्चों को भी डिजिटल तरीके से पढ़ाई करवाने का फैसला लिया गया है। इसके लिए नर्सरी और केजी में पढ़ने वाले सभी बच्चों के अभिभावकों के मोबाइल नंबर एकत्र कर व्हाट्सऐप ग्रुप बनाए गए हैं। इन नन्हे-मुन्ने बच्चों को भी अब रोजाना पढ़ाई से जोड़े रखने के लिए कुछ काम घर पर करवाने के लिए भेजा जा रहा है।

सभी डीटीएच पर दूरदर्शन शिमला दिखाने के लिए केंद्र को लिखा पत्र

सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को घर बैठे पढ़ाई करवाने के लिए दूरदर्शन के माध्यम से चलाई रही कक्षाओं का प्रसारण हर घर तक करवाने के लिए सरकार ने केंद्र को पत्र लिखा है। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बताया कि सभी डीटीएच पर दूरदर्शन शिमला का चैनल अनिवार्य तौर पर दिखाने के लिए केंद्र को पत्र लिखा गया है। पत्र के माध्यम से मांग की गई है कि सभी डीटीएच कंपनियों को दूरदर्शन का स्थानीय चैनल दिखाने के आदेश जारी किए जाएं।

शिक्षा मंत्री ने बताया कि प्रदेश में 10वीं और 12वीं कक्षा के करीब दो लाख विद्यार्थियों की पढ़ाई को जारी रखने के लिए रोजाना सुबह 10 बजे से एक बजे तक दूरदर्शन के माध्यम से कक्षाएं लगाई जा रही हैं। प्रदेश के कुछ क्षेत्रों से शिकायतें मिली हैं कि कुछ डीटीएच कंपनियां दूरदर्शन के शिमला चैनल का प्रसारण नहीं कर रहे हैं। ऐसे में प्रदेश सरकार का बच्चों को घर बैठे पढ़ाई करवाने का अभियान पूरी तरह से सफल नहीं हो रहा है। उन्होंने बताया कि अधिकांश केबल आपरेटरों से सरकार ने अपने स्तर पर बात कर दूरदर्शन के लोकल चैनल को शुरू भी करवा दिया है।


हिमाचल की ताज़ा ख़बरों के लिए अभी लाइक करें हमारा फेसबुक पेज
loading...

Post a comment

0 Comments