---Third party advertisement---

वन माफिया ने जब्त किए 35 स्लीपरों को लगाई आग, वन विभाग की टीम पर किया पथराव

वन माफिया ने जब्त किए 35 स्लीपरों को लगाई आग, वन विभाग की टीम पर किया पथराव

जहां समूचे भारत में लॉकडाऊन लगा हुआ है, वहीं वन माफिया के भी हौसले बुलंद हैं और जंगलों का कटान धड़ाधड़ किया जा रहा है। ऐसा ही एक मामला लगघाटी की भुट्टी बीट माशणा गांव के साथ लगते जंगल में पेश आया है। यहां वन विभाग की टीम ने वन माफिया द्वारा काटे गए पेड़ से बनाए 35 स्लीपरों को बरामद कर कब्जे में लिया। सड़क करीब डेढ़ किलोमीटर दूर होने के कारण विभाग की टीम के 2 महिला और 3 पुरुष फोरैस्ट गार्डों ने स्वयं ही कंधे पर उठाकर स्लीपरों को करीब 200 मीटर नीचे एक जगह एकत्रित कर रख दिया। अंधेरा होने के कारण टीम ने स्लीपरों का पहरा देने के लिए कुछ दूरी पर एक खोखे में ही शरण ली लेकिन देर रात करीब 2 बजे कुछ ग्रामीणों ने मौके पर पहुंच कर स्लीपरों में आग लगा दी।

फोरैस्ट गार्ड और टीम पर किया पथराव

विभाग की टीम जैसे ही मौके पर पहुंची तो कुछ ग्रामीणों को घटनास्थल से भागते हुए देखा। जब विभाग की टीम ने उनका पीछा किया तो उन्होंने फोरैस्ट गार्ड और टीम पर पथराव कर दिया, ऐसे में टीम जान बचाकर वापस खोखे की तरफ आ गई। हिमाचलसे.कॉम इस दौरान टीम ने माशना पंचायत के प्रधान को बुलाकर मौका करवाया, साथ ही पुलिस को भी सूचना दी गई लेकिन पुलिस की टीम लगभग सुबह 5 बजे के करीब मौके पर पहुंची। इस दौरान सिर्फ 2 ही स्लीपरों को बचाया गया जबकि बाकी जलकर राख हो गए।

क्या कहते हैं वन अरण्यपाल

वन अरण्यपाल कुल्लू अनिल कुमार शर्मा ने बताया कि विभाग ने पुलिस को इसकी शिकायत की है और विभाग की टीम ने बुध राम और उसके बेटे जीत राम के खिलाफ  मामला दर्ज करवाया है और कुछ लोग उनके साथ और भी थे। ऐेसे में पुलिस ने वन विभाग की शिकायत पर बुध राम व जीत राम के अलावा अन्य आरोपियों के खिलाफ भारतीय वन अधिनियम की धारा 32, 33 और भारतीय दंड संहित की धारा 379, 147, 149, 353, 332, 435201 के तहत मामला दर्ज लिया है।
हिमाचल की ताज़ा ख़बरों के लिए अभी लाइक करें हमारा फेसबुक पेज
loading...

Post a comment

0 Comments