---Third party advertisement---

हिमाचल में भारी बारिश से दो घर ढहे, अंधड़ से उड़ीं 52 मकानों की छतें, 250 ट्रांसफार्मर ठप

हिमाचल में भारी बारिश से दो घर ढहे, अंधड़ से उड़ीं 52 मकानों की छतें, 250 ट्रांसफार्मर ठप

हिमाचल में जारी भारी बारिश-बर्फबारी से दो घर ढह गए जबकि अंधड से 52 घरों की छतें उड़ गई। कुल्लू जिला में बिजली के 250 ट्रांसफार्मर ठप हो गए हैं। रोहतांग में मार्च के दौरान एक दिन में रिकॉर्ड 90 सेंटीमीटर बर्फबारी हुई। चंबा में नौ घरों सहित ऐतिहासिक बन्नी माता मंदिर को खतरा हो गया है। बड़सर में बिजली गिरने से मंदिर क्षतिग्रस्त हुआ है। अंधड़ और ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। प्लम की फ्लावरिंग झड़ गई, सेब की सेटिंग पर असर पड़ा। सीजेएम सोलन के आवास की दीवार गिरने से भवन को खतरा हो गया है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 19 मार्च तक मौसम खराब रहने की संभावना जताई है। राजधानी शिमला में बारिश और ओलावृष्टि हुई। लाहौल में हिमखंड गिरने का खतरा बढ़ गया है।

नेरवा में पुराने बस अड्डे के समीप दयांडली नाले में बाढ़ आने से एक कार बह गई। मलबे में तीन अन्य वाहन फंस गए हैं। कुल्लू जिले के लारजी-सैंज मार्ग स्थित पागलनाला 24 घंटे के भीतर तीन बार बंद हुआ। तूफान से कई इलाकों में रातभर बिजली गुल रही। पेड़ गिरने से बिजली के तारों को नुकसान हुआ। जिले में करीब 250 ट्रांसफार्मर ठप हैं, 40 से अधिक घरों, स्कूलों व दुकानों की छतों को नुकसान हुआ है। सैंज घाटी के रैला पंचायत के खडगंचा प्राइमरी स्कूल के किचन शेड की छत उड़ गई। सैंज-आनी-औट एनएच 305 यातायात के लिए अवरुद्ध है। रामपुर उपमंडल की सरपारा और गानवीं पंचायत में तूफान से एक दर्जन से अधिक मकानों, स्कूल भवन और गोशालाओं को क्षति पहुंची है।
loading...

Post a Comment

0 Comments