हिमाचलः 12 घंटे तक फंदे पर लटका रहा नाबालिग बेटी का शव, 12 घंटे बाद पहुंची पुलिस

हिमाचलः 12 घंटे तक फंदे पर लटका रहा नाबालिग बेटी का शव, 12 घंटे बाद पहुंची पुलिस

हिमाचल के सिरमौर जिले के शिलाई में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने पुलिस महकमे की कार्यप्रणाली के साथ इंसानियत पर भी सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस सूचना देने के बाद भी करीब 12 घंटे बाद मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लिया।  बता दें कि शिलाई उपमंडल की क्यारी पंचायत के डुमोड़ी गांव में 17 वर्षीय युवती ने गुरूवार सुबह करीब आठ बजे अपने घर में फंदा लगा लिया था। जिसकी सूचना सुबह ही पुलिस को दे दी गई। लेकिन पुलिस गुरुवार देर शाम करीब साढ़े आठ बजे मौके पर पहुंची और शव को उतार कर पोस्टमार्टम के लिए शिलाई अस्पताल पहुंचाया। इस दौरान पूरा दिन युवती का शव फंदे पर झूलता रहा। शुक्रवार सुबह 10 बजे के बाद चिकित्सकों ने शव का पोस्टमार्टम करके परिजनों को अंतिम संस्कार के लिए सौंपा। बताया जा रहा है कि परिजन पुलिस का इंतजार करते रहे, इसलिए उन्होंने शव को फंदे से नहीं उतारा।

हैरानी की बात ये है कि घटना स्थल से पुलिस थाना शिलाई की दुरी महज 12 किलोमीटर है और पुलिस को मौके तक पहुँचने में 12 घंटों का समय लग गया। इस दरमियां रोते बिलखते परिजनों की आँखों के सामने ही मृत युवती का शव पड़ा रहा। क्ष्रेत्र के लोग पुलिस और प्रशासन की लापरवाही से आक्रोशित हैं।

वहीं स्थानीय हलके के नम्बरदार नेत्तर सिंह ने बताया कि प्रशासन को मामले की सूचना सुबह दे दी गई थी, मगर पुलिस मौके पर देर शाम को पहुंची। गांव सड़क सुविधा से भी जुड़ा हुआ है। बावजूद इसके पुलिस को मौके पर पहुंचने के लिए 12 घंटे का समय लग गया। उन्होंने बताया कि पीड़ित परिवार अनुसूचित जाति से संबंध रखता है और बेहद गरीब है। उन्होंने सरकार और प्रशासन से इस गरीब परिवार के लिए आर्थिक सहायता की मांग की है। वहीं, पुलिस के अनुसार शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। मौके से कोई सुसाइड नोट या आत्माहत्या के कारणों की कोई जानकारी फ़िलहाल नहीं मिल पाई है। मामला दर्ज कर आत्महत्या के कारणों की जांच की जा रही है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...