---Third party advertisement---

Shimla: 3 माह से वेतन को तरसे BSNL कर्मचारी, धरना-प्रदर्शन कर दी भूख हड़ताल की चेतावनी

बीएसएनएल में पहले जहां कर्मचारियों को उनकी नौकरी के 10 से 8 साल पहले ही सेवानिवृत्ति दे दी गई है वहीं अब जो कर्मचारी अभी भी बीएसएनएल में काम कर रहे हैं, उन्हें भी वेतन नहीं मिल पा रहा है। वेतन न मिलने से कर्मचारी परेशान हैं। यही वजह है कि अब कर्मचारियों ने प्रदर्शन कर इसका विरोध जताना शुरू कर दिया है और मांग की है कि जल्द से जल्द उन्हें 3 माह से लंबित वेतन दिया जाए।



इसी मांग को लेकर मंगलवार को कसुम्पटी स्थित बीएसएनएल के कार्यालय के बाहर कमर्चारियों ने धरना-प्रदर्शन कर अपना विरोध प्रकट किया। इस प्रदर्शन के माध्यम से बीएसएनएल के कर्मचारियों ने मांग उठाई की उनका वेतन उन्हें दिया जाए। कर्मचारियों को वेतन न मिलने से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्रदर्शन के बाद एक गेट मीटिंग भी की गई, जिसके माध्यम से आंदोलन की आगामी रणनीति तैयार की गई है।


एसएनईए के राज्य अध्यक्ष आरडी शर्मा ने कहा कि बीएसएनएल में दिसम्बर से लेकर अभी तक वेतन नहीं मिल रहा है, जबकि 80 हजार के करीब कर्मचारियों को जबरन सेवानिवृत्त किया गया है। उन्हें वीआरएस दी गई है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को वीआरएस देने में विभाग ने तत्परता दिखाई है। जो रिटायर किए गए हैं उन्हें 2 माह का वेतन नहीं मिला है और अन्य देय भत्ते भी नहीं मिले हैं। उन्होंने कहा कि हमारी रणनीति के तहत हमने बीएसएनएल हैडक्वार्टर को नोटिस दे दिया है अगर अभी भी सुनवाई नहीं होती है तो 24 फरवरी से सभी कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर भूख हड़ताल करेंगे। News Source: Punjab Kesari 
loading...

Post a Comment

0 Comments