---Third party advertisement---

Kangra: शांता कुमार बोले, राजनीति में न उलझाएं हवाई अड्डे का मसला. करना ही पड़ेगा एयरपोर्ट विस्तार

Image result for gaggal airport
राजनीतिक बयानबाजी में उलझते जा रहे गगल हवाई अड्डे के विस्तार पर भाजपा के दिग्गज नेता और पूर्व सांसद ने सभी को मिल बैठकर इसका हल निकालने का निवेदन किया है। बकौल शांता कुमार गगल हवाई अड्डे का विस्तारीकरण करना ही पड़ेगा। एयरपोर्ट के अति महत्त्वपूर्ण विषय को राजनीति में उलझाने की कोशिश नहीं होनी चाहिए। यह सौभाग्य है कि पूरे प्रदेश में केवल गगल हवाई अड्डा नियमित रूप से चल रहा है और कम से कम समय में इसका विस्तारीकरण किया जा सकता है।

नई जगह ढूंढ कर हवाई अड्डा बनाने में दस साल लग जाएंगे और तब तक बेरोजगारी इंतजार नहीं करेगी।  यदि गगल हवाई अड्डे का विस्तार रुकेगा तो इस क्षेत्र की बेरोजगारी दूर करने में बड़ी रुकावट आएगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर इस बात के लिए बधाई के पात्र हैं कि हिमाचल के विकास और विशेष कर बढ़ती बेरोजगारी को दूर करने के लिए औद्यौगीकरण का एक क्रांतीकारी कार्यक्रम बनाया है। धर्मशाला में इनवेस्टर मीट से उसका प्रारंभ हुआ है। शांता ने कहा कि हिमाचल में पटवारियों के 12 सौ पदों के लिए तीन लाख 20 हजार उम्मीदवार थे, जिनमें एमए, बीए भी शामिल थे।

सरकार के हर पद के लिए इसी प्रकार उम्मीदरवार आ रहे हैं। कोई  सरकार सभी बेरोजगारों को नौकरी तो नहीं दे सकती। उसके लिए नए उद्योग और विशेष कर पर्यटन को बढ़ाना होगा। महामहिम दलाईलामा के कारण धर्मशाला विश्वभर का तीर्थ स्थल बन गया है। कुछ साल पहले चंबा में सीमेंट उद्योग के लिए एक कंपनी आई, लेकिन लोगों के विरोध के कारण वह लौट गई, अब कोई भी कंपनी आगे नहीं आ रही है। सीमेंट उद्योग लग जाता तो चंबा जिला की गरीबी व बेरोजगारी दूर हो जाती। हिमानी चामुंडा रोप-वे का शिलान्यास पांच साल पहले हुआ था, लेकिन लोगों के विरोध के कारण काम ही शुरू नहीं हो पाया। अब हवाई अड्डे का काम भी रोका जा रहा है। यदि जनता सहयोग नहीं देगी तो सरकार विकास नहीं कर सकती।
हिमाचल की ताज़ा ख़बरों के लिए अभी लाइक करें हमारा फेसबुक पेज
loading...

Post a comment

0 Comments