कांगड़ा जिले का युवक टिंकू सोशल मीडिया पर गुत्थी के नाम से हो रहा है वायरल. लोग समझ लेते हैं बेहद ही खूबसूरत लड़की

kangra ki guthhi

छोटे परदे के मशहूर कॉमेडियन ग्रोवर उर्फ गुत्थी से तो आप सब भलीभांति वाकिफ होंगे, लेकिन अब कांगड़ा जिले में सहौड़ा के रहने वाले टिंकू विहान के बारे में भी अब जान लीजिए। जिन्हें हिमाचल की गुत्थी कहना गलत नहीं होगा। बता दें कि टिंकू कहने को तो युवक हैं, लेकिन इसकी असली पहचान एक युवती के तौर पर होती है, क्योंकि टिंकू ने इस रूप को आजीविका के लिए अपनी पहचान बना लिया है। आज सोशल मीडिया में टिंकू के लाखों फैन और फ्लोअर्स हैं।


टिंकू ने बताया कि जब वह चौथी कक्षा में पड़ता था तो खेल-खेल में लड़की बना और डांस किया. लेकिन उसकी बड़ी बहन ने उसकी उसी अदा को पहचान लिया और उसे भविष्य में इसी तरह के रोल करने की सलाह दी। धीरे-धीरे टिंकू पर महिलाओं को रोल जचने लगे और आज टिंकू कई कार्यक्रमों में अपने महिला के रोल के लिए जाने जाते हैं।

कभी माता पार्वती, कभी सीता तो कभी मीराबाई और राधिका बनकर लोगों का मनोरंजन करने वाले टिंकू आज खुद एक टीम लीडर हैं।कल तक, जिसे आर्थिक तंगी के चलते अपनी शिक्षा को बीच में ही छोड़ना पड़ा था, आज यही टिंकू कईयों के लिए रोजगार का जरिया बन चुका है.आज के दौर में भी जहां बेटियों को बोझ समझा जाता है, बेटियों के खात्मे के लिए भ्रूण हत्याएं होती हैं।वहीं, बेटियों का ही रूप धर कर एक बेटा न केवल अपनी बल्कि कईयों के घरों के चिराग रोशन कर रहा है।

वहीं टिंकू ने बताया कि कुछ लोग बेटियों को बोझ समझते है। जोकि समाज में आज भी पूरी तरह से सुरक्षित नहीं है। इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि वह एक युवक हैं।बावजूद इसके उनके ऊपर भी लोग फब्तियां कसते हैं और सीटियां बजाते हैं और छेड़ते हैं, तो लड़कियों का क्या हश्र होता होगा। काबिलेगौर है कि आज भले ही टिंकू हिमाचल, पंजाब समेत कई राज्यों में अपनी परफॉरमेंस देकर लोगों की तालियां बटोरते हों, लेकिन ये राह उनके लिए कभी आसान नहीं रही।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...