हिमाचल : जब पिता को मुखाग्नि देकर फफक पड़ी बेटी, बोली- पूरा करूंगी पापा का सपना


हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के सूबेदार विनोद कुमार का सोमवार को अंतिम संस्कार किया गया. उन्हें उनकी सात साल की बेटी ने मुखाग्नि दी. साथ ही बड़ी संख्या में लोग भी अंतिम संस्कार के दौरान मौजूद रहे. जानकारी के अनुसार, फतेहपुर की पंचायत हाड़ा के जवान  सूबेदार विनोद कुमार गत दिवस जम्मू  के दबाना में सीढ़ियों से गिरकर मौत हो गई थी. जवान की पार्थिव देह रविवार रात को सेना के वाहन से उनके पैतृक गांव पहुंचाई गई.

बीती रात घर पहुंचा था शव जैसे ही पार्थिव देह को मृतक के पैतृक गांव पहुंचाया गया, तो हर तरफ चीखों-पुकार से क्षेत्र पूरी तरह गमगीन हो गया. सुबह जैसे ही अंतिम संस्कार को ले जाया जाने लगा तो तिरंगे में लिपटे शव के लिपट कर पत्नी सुमन, बुजुर्ग मां सहित पूरा क्षेत्र रोया. वहीं तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली बेटी हर्षि और सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली दूसरी बेटी शैबी इस दुखदाई घटना से स्तब्ध दिखीं. माहौल उस समय पूरी तरह गमगीन हो गया, जब सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली बड़ी बेटी शैबी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी. और फफक कर रो उठी.

पुलिस और जवानों ने दी श्रद्धांजलि धर्मशाला से 16 पंजाब रेजिमेंट की टीम में एक जेसीओ, 4 गार्ड और बिगुलर भी घर पहुंचे और यूनिट से मेजर अमित खत्री, सूबेदार सुरेन्द्र चीमा सहित चार जवानों ने भी दिवंगत सूबेदार को सेल्यूट किया. प्रशासन की तरफ से पहुंचे एसडीएम बलबान चन्द, तहसीलदार सुरेश कुमार, थाना प्रभारी सुरेश शर्मा ने भी दिवंगत सूबेदार की पार्थिव देह पर पुष्प अर्पित किए.

पापा चाहते थे डॉक्टर बनूंमुखाग्नि देने वाली बेटी ने पापा की अंतिम इच्छा पूरी करने का वचन लिया. इस दौरान बेटी शैबी ने कह कि पापा उन्हें सेना में डाक्टर बना देखना चाहते थे, जिसे वह हर हाल में पूरा करेगी. इस मौके पर भांमस प्रदेश उपाध्यक्ष मदन राणा, जिला परिषद सदस्य जगदेव सिंह, पंचायत उपप्रधान जरनैल सिंह सहित सैकड़ों लोग दिवंगत की अंतिम यात्रा में शरीक हुए.

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...