हिमाचल के आठ लाख युवा भटक रहे नौकरी की तलाश में


हिमाचल प्रदेश के आठ लाख से अधिक युवा बेरोजगारी की दहलीज पर है। ये लाखों युवा रोजगार की तलाश में हैं। बेरोजगारी का पता तब चला, जब सभी जिलों के रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत युवाओं की संख्या सामने आई। श्रम एवं रोजगार विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक वर्तमान में यानी अक्तूबर 2019 तक प्रदेश के रोजगार कार्यालयों में आठ लाख 63 हजार 717 युवा पंजीकृत हैं।

इनमें सबसे अधिक जिला कांगड़ा में एक लाख 96 हजार 965 युवा बेरोजगार हैं। उसके बाद दूसरे नंबर में जिला मंडी है, जहां पर एक लाख 54 हजार 321 बेरोजगार हैं। तीसरे नंबर पर सबसे अधिक जिला शिमला में 78 हजार 849 युवा रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत हैं, जो किसी न किसी तरह से सरकारी नौकरी की तलाश में हैं।

अप्रैल 2018 से लेकर अक्तूबर 2019 तक हर महीने बेरोजगारों की संख्या में इजाफ हो रहा है। जानकारी के मुताबिक, अप्रैल 2018 में आठ लाख 37 हजार 467, मई 2018 में आठ लाख 41 हजार 119, जून 2018 में आठ लाख 39 हजार 839, जुलाई 2018 में आठ लाख 43 हजार 215, अगस्त 2018 में आठ लाख 41 हजार 95, सिंतबर 2018 में आठ लाख 42 हजार 618, अक्तूबर 2018 में आठ लाख 46 हजार 52, नवंबर 2018 में आठ लाख 48 हजार 32, युवा संबंधित रोजगार कार्यालयों में रजिस्टर्ड हुए।

इसी तरह से दिसंबर 2018 में आठ लाख 49 हजार 981, इसी साल जनवरी में आठ लाख 61 हजार 108, फरवरी में आठ लाख 72 हजार 982, मार्च में आठ लाख 66 हजार 92, अप्रैल माह में आठ लाख 32 हजार 139, मई में आठ लाख 26 हजार 516, जून में आठ लाख 37 हजार 180, जुलाई में आठ लाख 43 हजार 870, अगस्त में आठ लाख 42 हजार 866, सिंतबर में आठ लाख 64 हजार 266 तथा अक्तूबर माह में आठ लाख 63 हजार युवा रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत थे।

इन आंकड़ों से साफ जाहिर है कि प्रदेश में हर माह बेरोजगारों की संख्या बढ़ती जा रही है। हालांकि अभी तक नवंबर और दिसंबर महीने में रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत बेरोजगारों का आंकड़ा नहीं हैं, लेकिन दो माह का योग होने से आंकड़ा नौ लाख तक पहुंच सकता है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...