सरकार ने डिपुओं में बढ़ा दिए दाम. कैसे गलेगी गरीबों की दाल

सरकार ने डिपुओं में बढ़ा दिए दाम. कैसे गलेगी गरीबों की दाल

महंगाई के इस दौर में डिपुओं में मिलने वाले सस्ते राशन पर अब नजर लग गई है। इस बार डिपुओं में मिलने वाली दालों के दाम में एकाएक 10 से 15 रुपए की बढ़ोतरी राशनकार्ड धारकों के लिए परेशानी का सबव बन गई है। सरकार की ओर से एक तरफ उड़द के दामों में सीधे 15 रुपए तक की बढ़ोतरी की गई है, वहीं मूंग के दाम 10 रुपए प्रति किलो बढ़ा दिए गए हैं। 

इसी माह से कार्डधारकों को नए स्टॉक की बढ़ी हुई कीमतें चुकानी पड़ेंगी। बता दें कि इससे प्रदेश के करीब साढ़े 18 लाख राशन कार्डधारक सीधे तौर पर प्रभावित होंगे। गौर हो कि डिपुओं का सस्ता राशन प्रदेश के कार्डधारकों को हमेशा परेशान करता रहता है। कभी कोटे की कमी, तो कभी खाद्य वस्तुओं के एकाएक बढ़ता दाम, जहां कार्डधारकों की जेब पर डाका डालता है। वहीं सप्लाई में हर माह लग रहे कट उनके किचन के बजट को गड़बड़ा देता है। 

डिपुओं में पहले 35 रुपए प्रति किलो के हिसाब से मिलने वाली उड़द दाल अब 50 रुपए किलो, जबकि 40 रुपए प्रतिकिलो के हिसाब से मिलने वाली मूंग दाल राशन डिपुओं में 50 रुपए के हिसाब से मिलेगी। गौर रहे कि दोनों ही दालें खाने में सबसे ज्यादा यूज होती हैं। उड़द की दाल जहां हर तीसरे घर में पकाई जाती है, वहीं स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए मूंग दाल का प्रयोग भी गरीब व मध्यम वर्गीय परिवारों में अधिक किया जाता है। 

खुले बाजार में दालें महंगी होने के चलते लोग सस्ते राशन की दुकानों पर निर्भर थे। अब यहां पर भी दालें महंगी होना शुरू हो गई हैं। ऐसे में लोगों का बजट गड़बड़ा गया है। गरीब व मध्यम वर्गीय परिवारों को किचन का बजट पूरा करना दिन-प्रतिदिन मुश्किल होता जा रहा है। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार ने दालों पर सबसिडी बंद कर दी है, जिस कारण प्रदेश सरकार ने दालों के दाम बढ़ा दिए हैं। हालांकि इस बारे में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग व सिविल सप्लाई कापोरेशन का कोई भी अधिकारी खुलकर बात करने को तैयार नहीं है।

आटा भी 40 पैसे हुआ गीला!

डिपुओं में मिलने वाले आटे की कीमतों में भी 40 पैसे प्रति किलो की बढ़ोतरी की गई है। डिपुओं में हर माह 8.60 रुपए प्रतिकिलो के हिसाब से मिलने वाला आटा अब नौ रुपए किलो के हिसाब से मिल रहा है। ऐसे में सरकार ने राशनकार्ड धारकों का आर्थिक बोझ बढ़ा दिया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...
loading...