स्मार्ट वर्दी का रंग उतरने के बाद अब फटने लगे स्कूल बैग


Image result for स्मार्ट वर्दी का रंग उतरने के बाद अब फटने लगे स्कूल बैग
सरकारी स्कूलों की स्मार्ट वर्दी का रंग उतरने के बाद अब स्कूल बैग फटना शुरू हो गए हैं। जयराम सरकार की एक और योजना शुरू होते ही सवालों के घेरे में आ गई है। वर्दी की जांच में जुटी सरकार की बैग फटने से मुश्किलें और बढ़ गई हैं। बैग फटने का मामला ऊना जिला में सामने आया है। यहां हरे रंग का बैग किताबों का बोझ अधिक होने के चलते फट गया है। इस फटे बैग की फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने अपने फेसबुक पेज पर इस फोटो को अपलोड कर प्रदेश सरकार पर खूब तंज कसे हैं।

प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने अभी ऊना और हमीरपुर जिलों में निशुल्क स्कूल बैग आवंटित किए हैं। शेष जिलों में सरकार के दो साल पूरे होने पर 27 दिसंबर से आवंटन करने की तैयारी है। हिमाचल में पहली, तीसरी, छठी और नवीं कक्षा के ढाई लाख विद्यार्थियों कोे स्कूल बैग दिए जाने हैं। स्कूल बैगों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की फोटो लगाई गई है। जून महीने में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में बैग खरीद के लिए चयनित कंपनियों को मंजूरी दी गई थी।

बच्चों को निशुल्क स्कूल बैग देने की बीते साल के बजट में घोषणा की थी लेकिन साल 2018 में इसको लेकर कोई निर्णय नहीं हो सका। फिर लोकसभा चुनाव के चलते मामला लटक गया। बच्चों की किताबों के हिसाब से बैग का वर्गीकरण करने का दावा किया गया है। लेकिन ऊना जिला में हुई बैग सप्लाई संदेह के घेरे में आ गई है। प्रारंभिक शिक्षा निदेशक रोहित जमवाल ने बताया कि जिला उपनिदेशक से मामले की रिपोर्ट ली जाएगी। फटा हुआ बैग कंपनी के माध्यम से बदलवाया जाएगा।

मोदी-जयराम की फोटो पर फोकस, क्वालिटी से समझौता: मुकेश
नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने अपने फेसबुक पेज पर ऊना जिला में फटे स्कूल बैग की फोटो अपलोड की है। सरकार की योजना पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने स्कूल बैग की क्वालिटी से समझौता किया है। बैग पर प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री जयराम का फोटो लगाने पर ही फोकस किया गया है। अग्निहोत्री ने कहा कि इस मामले को विधानसभा के शीतकालीन सत्र में प्रमुखता से उठाया जाएगा।

शिक्षा मंत्री भारद्वाज ने मांगी रिपोर्ट
सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को दी गई स्मार्ट स्कूल वर्दी की शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने विभागीय अधिकारियों से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है। वर्दी का रंग उतरने की कितनी शिकायतें आई हैं, क्या आरोप हैं, निपटारे के लिए क्या कदम उठाए, इन बिंदुओं पर आधारित रिपोर्ट शिक्षा मंत्री ने तलब की है।

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...