Kangra: पालमपुर - एक के बाद एक बलात्कार से दुखी शांता कुमार बोले, फांसी देते वक्त हो रिकार्डिंग

Recording while hanging
भाजपा नेता व पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार देश में बढ़ रहे रेप के मामलों से दुखी हैं। उन्होंने बलात्कारियों को फांसी देने की मांग की है। उन्होंने फांसी देने की कार्रवाई की वीडियो रिकार्डिंग करने और उसे टीवी पर दिखाए जाने की भी पैरवी की है।

उन्होंने सरकार से मांग की है कि ऐसा कानून बनाया जाए, जिसके अंतर्गत बलात्कारी को तीन माह में सूली पर चढ़ाया जाए। इसके साथ योग और नैतिक शिक्षा को सबसे अनिवार्य विषय बना कर शिक्षा में जोड़ा जाए। शांता कुमार ने कहा है कि कुछ वर्ष पहले दिल्ली के निर्भया कांड के बाद हिमाचल के कोटखाई में गुडि़या कांड और अब हैदराबाद में एक महिला डाक्टर से दरिंदगी की घटनाओं से मन ही नहीं, आत्मा भी आहत है। एक भारतीय के तौर पर सिर शर्म से झुक जाता है।

कभी किसी ने सोचा नहीं था कि आजादी के 70 साल बाद इतना अधिक लज्जित होना पड़े़ेगा। शांता कुमार ने कहा कि दिल्ली के निर्भया कांड के अपराधियों को फांसी की सजा हो गई थी, परंतु सरकारी गोरखधंधे के कारण उन्हें सात साल से फांसी नहीं दी जा रही है। पूरे देश में बलात्कार के मामले बढ़ गए  हैं, परंतु केवल 25 प्रतिशत मामलों में ही सजा होती है। 

कोटखाई में गुडि़या कांड में प्रदेश के इतिहास में पहली बार गुस्से से भरी भीड़ ने पुलिस थाने को आग लगाई थी। डीआईजी स्तर तक के पुलिस के सात अधिकारी लंबे समय तक जेल में रहे और सीबीआई जांच करती रही, परंतु गुडि़या के साथ दरिंदगी करने वाले अपराधी आज तक नहीं पकड़े गए।  उन्होंने कहा कि अब हैदराबाद की घटना के बाद सारा देश सड़क पर राहे रहा है, आंसू बहा रहा है।  इतने दिन हो गए, सरकार अभी तक चुप है, यह हैरान करने वाली बात है। शांता कुमार ने कहा है कि परिस्थिति बहुत गंभीर हो गई हैं। लोगों का विश्वास उखड़ रहा है, इसलिए सरकार  शीघ्र कार्रवाई करे। News Source - Divya Himachal

Post a Comment

Previous Post Next Post
loading...